सुप्रीम कोर्ट के फैसला मूर्तियों पर खर्च करे रकम सरकारी खजाना में जमा कराएं मायावती

0
371
maya

नईदिल्ली-

सुप्रीम कोर्ट ह बहुजन समाज पार्टी के सुप्रीमों मायावती ल उत्तर प्रदेश के पार्क में बनवाई गई, हाथी अउ खुद के प्रतिमा के मूल्य वापस करे बर कहे हे । ये मामला के सुनवाई मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रंजन गोगाई के खंडपीठ ह करिस हे ।

सर्वोच्च न्यायालय ह आदेश दिस हे कि मायावती ह अपन अउ हाथि के प्रतिमा बनाने में जनता के जितना पैसा खर्च करे हे ओला वापस करे ल पड़ही । अब ये मामला के अगला सुनवाई 2 अप्रैल हे होही ।

दरअसल मायावती ह उत्तर प्रदेश में बसपा शासनकाल में कई पार्क के निर्माण करवाय हे। जेन पार्क में बसपा संस्थापक कांशीराम, मायावती अउ हाथी की प्रतिमा लगवाय हे। ये मुद्दा पहिली भी चुनाव में उठ चुके हे अउ विपक्षी ये मुद्दा उपर निशाना साधे हे । बसपा के शासनकाल में ये प्रतिमा लखनऊ, नोएडा समेत अन्य शहर में बनवाय गेहे।

ये मामला में सुप्रीम कोर्ट ह 2015 में उत्तर प्रदेश के सरकार से पार्क अउ प्रतिमा उपर खर्च होय सरकारी पैसा के जानकारी मांगे रिहिस हे । लखनऊ विकास प्राधिरकरण के रिपोर्ट में दावा करे गेहे कि लखनऊ, नोएडा अउ ग्रेटर नोएडा में बनाए पार्क उपर कुल 5,919 करोड़ रुपए खर्च होय हे ।

 

 

 

image-source-google

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here