ग्रामीण क्षेत्र में मजबूत आर्थिक कड़ी बनके उभरीस बैंक सखियाँ

0
110
sakhi bank

रायपुर-

 संकट के समय में ही शक्ति के असल परीक्षा होथे। विश्वव्यापी कोविड संकट में छत्तीसगढ़ के आर्थिक मजबूती के समय में हाथ बटाके बैंक सखी ह खुद ल साबित करे हे | मनरेगा श्रमिक के भुगतान, बुजुर्ग अउ निःशक्त मन के पेंशन के भुगतान करना हे या कोनो ग्रामीण ल अपन खाता से रुपए निकलना हे त बैंक सखी अपन सेवा देत हे। इही कारण Bank strictures emerged as strong economic link in rural areas के दौरान ग्रामीण मन ल रुपए-पईसा के दिक्कत नई होय अउ न ही ओमन ल बैंक के शाखा जाय बर पडथे |

येकर से बैंक में भीड़ के नियंत्रित करने में काफी मदद मिलथे। छत्तीसगढ़ के अन्य जिला के तरह दुर्ग जिला में घलो बैंक सखी ह अपन उपयोगिता सिद्ध करत हे। उहा 41 महिला मन बैंक सखी के रूप में काम करत हे। ओमन ल पंचायत विभाग के बिहान योजना के तहत बैकिंग लेन-देन संबंधित प्रशिक्षण घलो दिये गेहे। येकर माध्यम से अब तक 5 करोड़ रुपए के लेनदेन हो चुके हे। ओमन पिछला एक महीना में मनरेगा के 4.43 करोड़ रुपए सहित पेंशन अउ जनधन खाताधारक मन के  5 करोड़ रुपय के भुगतान करे गेहे।

 

 

image-source-google

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here