डिस्ट्रिक्ट माइनिंग फंड योजना में काम करने वाला 292 संविदा कर्मचारी के सेवा होही समाप्त

0
213
doctor

रायपुर-

डिस्ट्रिक्ट माईनिंग फंड (डीएमएफ) से काम करने वाला नौ डॉक्टर समेत 292 संविदा कर्मचारी के सेवा समाप्त होही। दंतेवाड़ा सीएमओ ह सबो झन ल एक महीना के नोटिस थमाके सेवा समाप्त करे के सूचना जारी करे हे । डीएमएफ  के काम में सरकार ल बडे फजीर्वाड़ा होय के जानकारी मिले हे । तेकरे चलते ये योजना में काम करने वाला के लिस्ट जारी कर सेवा समाप्त करे के फैसला लिये गेहे।

दंतेवाड़ा में डीएमएफ से बडे संख्या में संविदा में भरती करे गेहे। जेमा सरकार ल व्यापक फर्जीवाड़ा के भी शिकायत मिले हे । कुछ अईसे लोग भी अस्पताल के नाम से नियुक्त कर दिए गए, जेकर उपास्थिति कागज में रथे। सोर्स-सिफारिश पर पद से अधिक अपाइंटमेंट किए गए। मसलन, दंतेवाड़ा जिला अस्पताल में नर्स के 70 स्वीकृत पद हे। लेकिन, वहां डीएमएफ में 140 नर्सों के भर्ती कर लिये गेहे।

सीएमओ के नोटिस से पता चलत हे कि स्वास्थ्य सेवा के नाम वहां किस तरह गोलमाल करे गेहे। छोटे सामुदायिक केंद्र में सात-सात चौकीदार के नियुक्ति कर लिए गेहे । यहीं नहीं, डीएमएफ के मद से डाक्टर के इंसेटिव भी दिए जात हे। जेन संविदा डाक्टर ल बाहर से ढाई लाख वेतन में पोस्टिंग करे गेहे ।

ओकर देखा देखी सरकारी डाक्टर ह वेतन बढ़ाय के मांग करे हे । जेकर बाद डीएमएफ ह सबो झन ल  30 से 40 हजार रुपए महीना इंसेटिव फीक्स कर दिये गेहे। जबकि, सविदा के समान सुविधा के मांग सरकारी डाक्टर नई कर सकय । काबर की ओमन सरकारी हे । 292 में विशेषज्ञ डॉक्टर से लेके  सफाईकर्मी तक शामिल हे ।

 

 

image-source-google

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here