आज का सुविचार 10-01-2020

0
35
10 janvary

 

कटी हुई टहनियाँ भी कहाँ पर छांव देती है,

हद से ज्‍यादा उम्‍मीदें हमेशा घाव ही देती है।

सुप्रभात……….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here