100 करोड़ ठगी के दो आरोपी पकड़ाईस, मिलिस 36 बैंक अकाउंट

0
17
paisa

रायपुर-

श्योर वेल्थ मार्ट कंपनी में फ्रेंचाइजी दिलाय के नाम से रायपुर के करीब 600 लोगन से 100 करोड़ रुपये से अधिक के ठगी कर रातोरात फरार होय कंपनी के दो डायरेक्टर राजेश मिश्रा अउ दीनदयाल सोनी ल पुलिस ह मध्यप्रदेश के डिंडौरी अउ बिहार के दरभंगा से गिरफ्तार करे हे ।

दफ्तर से जब्त कम्प्यूटर, लैपटॉप अउ दस्तावेज में करोड़ों के हिसाब-किताब मिले हे। कंपनी के नाम से अलग-अलग बैंक में 36 अकाउंट हे। एसएसपी आरिफ शेख ह बताईस कि दो साल पहिली तेलीबांधा क्षेत्र के आनंदनगर में कंपनी के दफ्तर खोलके राजेश मिश्रा (45) अउ दीनदयाल सोनी (68) ने ठगी के जाल फैलाईस। कंपनी के अलग-अलग जिला में फ्रेंचाइजी दिलाय के नाम से करीब 30 लोगन से 35-35 लाख रुपय ठग लिस।

रायपुर के अलावा धमतरी, बालोद, जांजगीरचांपा, दुर्ग आदि जिला में ओहा करीब छह सौ लोगन से इसी प्रकार से ठगी करे हे। कंपनी के सामान खरीद उपर लाइफ टाइम मेंबरशिप वाला ग्राहक के गोल्ड पाइंट देने अउ पिरामिड स्ट्रक्चर के रूप में कंपनी से जुड़े लोगन द्वारा अन्य लोगन ल जोडे बर बोनस प्वाइंट अउ अधिक फायदा दे के लालच देवय। राजेंद्रनगर थाना में पिछले दिनों पीड़ितमन के शिकायत उपर ये दोनों के खिलाफ ठगी के शिकार सुधीर जैन, चंद्रशेखर साहू, सुरेंद्र प्रीतवानी ह रिपोर्ट दर्ज कराय हे ।

आरोपित डायरेक्टर ह कंपनी में एक प्रतिशत से 12 प्रतिशत प्रॉफिट हर महीना दिलाय के वादा करे रिहिस हे। झांसा में आके पीड़ित ह श्योर मार्ट कंपनी के अलग-अलग खाता में लाखों रुपय जमा करवा दिस। शुरू में पीड़ित ल कुछ कमीशन दिये गिस जब बाद में पईसा मिलना बंद होगे त पीड़ित ह आरोपी के खिलाफ राजेन्द्रनगर थाना में धोखाधड़ी के तीन केस दर्ज कराईस। पुलिस ह ये मामला में प्राइम चिट एवं मनी सर्कुलेशन एक्ट एवं छग के निक्षेपक के हित के संरक्षण अधिनियम के धारा भी जोडे हे।

एसएसपी ह बताईस कि मूलत: डिंडौरी व दरभंगा निवासी आरोपी से जब्त 11 कम्प्यूटर व दो लैपटॉप में करीब 90 लाख रुपये के ट्रांजेक्शन के हिसाब-किताब मिले हे कंपनी के नाम से अलग-अलग बैंक में 36 अकाउंट हे। सबो बैंक से डिटेल मांगे गेहे। आरोपी मन मार्ट विजन डॉट इन के नाम से कंपनी के वेबसाइट बना रखे हे। लाइफ टाइम मेंबर वाला ग्राहक के यूजर आईडी व पासवर्ड दे रखे हे। यही नहीं, कंपनी के प्रचार-प्रसार करे बर बकायदा सौ से अधिक लोग ट्रेनर व टीम लीडर के रूप में नियुक्त रिहिस हे ।

पीड़ित मन ले कहे जाय की एक लाख रुपय या उससे अधिक रकम हमर सुपर बाजार में जो लगाही उसे प्रति लाख रूपय पर 40 हजार रुपए के सोना उपहार स्वहार स्वरूप दिये जाही। पईसा के लेन-देन राजेश प्रसाद द्वारा करे जाय। वह पीड़ित ल न पहचानने के हवाला देते हुए दफ्तर में प्रवेश नई करे बर दे। दिनदयाल एवं मनोकांत पटेल, राजेश प्रसाद धमकी घलो दे। सुरेन्द्र प्रीतवानी के बहन कनिष्का ने रिश्तेदार एवं परिचित से मिलाके करीब 35 लोगन से 35 लाख रूपय कंपनी में जमा कराईस। सबो के रकम दोगुना लौटाही करके कहे गिस, परंतु जब लौटाय के बारी आईस त डायरेक्टर दफ्तर बंद करके भाग निकलिस। कंपनी से जुड़े अन्य आरोपी के पुलिस तलाश करत हे ।

 

 

image-source-google

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here